Arthgyani
होम > बाजार > सीखें शेयर बाजार > कंपनी फ़र्जी है या वैध

शेयर मार्केट में लिस्टेड कंपनी फ़र्जी है या वैध, इसे जानें

कंपनी फ़र्जी है या वैध, इसे कई प्रकार से चेक किया जा सकता है।

अगर आप निवेश में पहली बार उतर रहे हैं तो शेयर मार्केट में निवेश से पहले लिस्टेड कंपनियों के बारे में ज़रूर जानकारी हासिल कर लें। शेयर मार्केट में लिस्टेड कंपनी फ़र्जी है या वैध, इसे कई प्रकार से चेक किया जा सकता है। 

रखे कुछ ख़ास बातों का ध्यान

  • कंपनी कितनी पुरानी है 
  • कंपनी का ग्रोथ कैसा रहा है 
  • कंपनी का बिज़नेस अनुभव क्या रहा है 
  • कम्पनी में प्रमोटर्स की होल्डिंग कितनी है 
  • कंपनी में फ़ॉरेन इन्वेस्टर्स की कितनी होल्डिंग है 

इसके लिए आपको उस कंपनी की एनालिसिस करनी होगी जिसके बारे में आप इंटरेस्टेड हैं। आपको कंपनी का मार्केट कैपिटलाईजेशन रिसोर्ट, शेयर और प्रमोटर्स की होल्डिंग देखनी पड़ेगी। फ़र्जी कंपनियों में प्रमोटर्स की होल्डिंग बहुत ही कम होती है जो कि नाममात्र के बराबर होती है। इसलिए 10 से 15 या 15 से 20 परसेंट प्रमोटर होल्डिंग वाले कंपनियों के शेयर ना ख़रीदें। किसी भी कंपनी में इन्वेस्ट करने से पहले ज़रूर देख लें कि फ़ॉरेन इन्वेस्टर्स की कितनी होल्डिंग है और यह देखना भी बहुत ज़रूरी है कि कंपनी का रिकॉर्ड कितना पुराना है और कितनी अनुभवशील है। कंपनी का मैनेजमेंट कैसा है, कंपनी के प्रोजेक्ट कैसे हैं, वह कंपनी ग्रोथ कर रही है या नहीं। कंपनियों के ग्रोथ स्केल पर पैनी निगाह डालिये। फ़र्जी कंपनियां अपनी कोई भी रिपोर्ट टाइम पर नहीं देती हैं। फ़र्जी कंपनियां जो लिस्टेड होती हैं वह कुछ महीने बाद ख़त्म हो जाती है तो कृपया नई कंपनियों पर पैसा ना लगाएं जब तक आपको उन कंपनियों के बारे में पूरी जानकारी ना हो।