Arthgyani
होम > न्यूज > सरकार को 10,000 करोड़ की उम्मीद ईटीएफ की सातवीं क़िस्त से

सरकार को 10,000 करोड़ की उम्मीद ईटीएफ की सातवीं क़िस्त से

सरकार जुटाएगी 10,000 करोड़

सरकार की केंद्रीय सार्वजनिक उपक्रमों (सीपीएसई) के ईटीएफ (एक्सचेंज ट्रेडेड फंड) की सातवीं किस्त से 10,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है। इसे जनवरी अंत में पूंजी बाजार में पेश किया जा सकता है। सूत्रों ने यह जानकारी देते हुए कहा कि यह पेशकश 30 जनवरी को एंकर निवेशकों और 31 जनवरी को अन्य संस्थागत और खुदरा निवेशकों के लिए खोली जा सकती है। निप्पॉन लाइफ इंडिया एसेट मैनजमेंट सरकार की ओर से सीपीएसई ईटीएफ का प्रबंधन कर रही है।

सूत्रों ने कहा कि इस पेशकश का आकार 10,000 करोड़ रुपये होगा। इस से ज्यादा बोली आती है तो उसको भी स्वीकार किया जायेगा। पिछली पेशकशों से अच्छी प्रतिक्रिया मिलने के बाद सीपीएसई ईटीएफ की सातवीं किस्त को पेश करने का फैसला किया गया है। इससे पहले सीपीएसई ईटीएफ की छह किस्तों के जरिए सरकार 49,500 करोड़ रुपये जुटा चुकी है।

सीपीएसई के 6 किस्तों से कमाई

पहली किस्त मार्च 2014 में आई थी, जिसके जरिए 3 हजार करोड़ रुपये जुटाए गए। दूसरी किस्त (6,000 करोड़ रुपये) जनवरी 2017 में, तीसरी किस्त (2,500 करोड़ रुपये) मार्च 2017 में, चौथी (17,000 करोड़ रुपये) नवंबर 2018 में, पांचवीं किस्त (10,000 करोड़ रुपये) मार्च 2019 में और छठी किस्त (11,500 करोड़ रुपये) जुलाई 2019 में आई।

ये सीपीएसई ओएनजीसी, एनटीपीसी, कोल इंडिया, आईओसी, ग्रामीण विद्युतीकरण निगम, पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स, ऑयल इंडिया, एनबीसीसी इंडिया, एनएलसी इंडिया और एसजेवीएन हैं। सरकार ने चालू वित्त वर्ष में विनिवेश के जरिए 1.05 लाख करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है।

एक नज़र :

  • पहली किस्त मार्च 2014 में आई थी, जिसके जरिए 3 हजार करोड़ रुपये जुटाए गए।
  • दूसरी किस्त 6,000 करोड़ रुपये की जनवरी 2017
  • तीसरी किस्त 2,500 करोड़ रुपये की मार्च 2017
  • चौथी 17,000 करोड़ रुपये की नवंबर 2018
  • पांचवीं किस्त 10,000 करोड़ रुपये की मार्च 2019
  • छठी किस्त 11,500 करोड़ रुपये की जुलाई 2019