Arthgyani
होम > न्यूज > सीमेंट कम्पनियों के शेयर में आ सकता है उछाल

सीमेंट कम्पनियों के शेयर में आ सकता है उछाल

देशभर में सीमेंट की औसत कीमतों में करीब 2.5 फीसदी की गिरावट आई है।

बीते कुछ महीनो से सीमेंट कम्पनियों के शेयर की क़ीमत औंधे मुंह गिरी थी। एक बोरी सीमेंट का भाव 339 रुपये रह गया जबकि मई 2019 में यह क़ीमत 368 रुपये प्रति बोरी था। मई से ही भाव में लगातार गिरावट आई है। ET के अनुसार दिसंबर के आंकड़े बताते हैं देशभर में सीमेंट की औसत कीमतों में करीब 2.5 फीसदी की गिरावट आई है।

हालाँकि विशेषज्ञों का मानना है कि आने वाला समय सीमेंट कंपनियों के लिए बेहतरीन रहने वाला है। लगातार गिरती कीमतों के बीच विशेषज्ञों की ये घोषणा सीमेंट कम्पनियों के शेयर धारकों के लिए एक बड़ी खुशखबरी है।

बीते सात महीनों से लेकर अभी दिसंबर तक भी सीमेंट की कीमतों में लगातार गिरावट देखी गयी है। हालांकि, विश्लेषकों का मानना है कि वित्त वर्ष 2019-20 में सीमेंट वॉल्यूम में 4 से 6 फीसदी तक की तेजी आ सकती है।

क्या होगी क़ीमत बढ़ने की वजह

जानकारों के अनुसार, कच्चे माल के दाम में कमी के चलते सीमेंट कंपनियों की कमाई बेहतर नजर आ सकती है। बीते छह महीनों में सीमेंट बनाने के लिए जरूरी कच्चे माल में शामिल पेट कोक (कोयला) की कीमतों में 25 से 30 फीसदी तक कमी आई है। सीमेंट कंपनियों के लिए अन्य ज़रूरी कच्चे माल की क़ीमत में भी बहुत गिरावट आई है।

तुलनात्मक क़ीमत

शेयर बाज़ार के अध्ययनकर्ताओं ने कहा कि मौजूदा साल में सीमेंट कम्पनियों के शेयर कीमतों में गिरावट भले ही आई है, इसके बावजूद सीमेंट के मौजूदा भाव एक साल पहले की तुलना में अब भी ज्यादा है। उन्हें साल-दर-साल की तुलना में वित्तीय आंकड़ों का प्रदर्शन दिसंबर तिमाही में बेहतर रहने की उम्मीद है।