Arthgyani
होम > न्यूज > सॉवरेन गोल्ड बांड योजना

धनतेरस एलर्ट: ‘सॉवरेन गोल्ड बांड योजना’ की 6वीं सीरीज लांच

निवेश की आखिरी तारीख 25 अक्टूबर 2019 है|

सरकार ने दीपावली के पर्व को ध्यान में रखते हुए धनतेरस के दिन तक निवेश करने के लिए एक बार फिर से सॉवरेन गोल्ड बांड योजना की 6वीं सीरीज को जारी कर दिया है| वित्त मंत्रालय से मिली खबर के अनुसार इस योजना में निवेश धनतेरस के दिन तक कर सकते हैं, यानि इसकी आखिरी तारीख 25 अक्टूबर 2019 है| इस योजना में ब्याज की गिनती 30 अक्टूबर से की जाएगी| बता दें, सरकार ने ऑनलाइन बांड खरीदने और डिजिटल पे करने वालों को 50 रुपये प्रति ग्राम छूट देने की भी घोषणा की है| एक ग्राम सोने की कीमत 3,835 रुपये प्रति ग्राम निर्धारित की गई है|

कितना टैक्स पे करना होगा

निर्धारित किए गए समय यानि कि मैच्योर होने तक होल्ड करने पर एसजीबी पर कोई कैपिटल बढ़त टैक्स नहीं लगता है| यदि  मैच्योरिटी की तारीख से पहले एक्सचेंज करने पर यह छूट लागू नहीं होती है| जब खरीद के तीन साल के भीतर गोल्ड बॉन्ड को बेचा जाता है तो इसे शॉर्ट टर्म गेंस माना जाता है| इस तरह की बढ़त  निवेशक की इनकम के साथ जुड़ती है| उसी के हिसाब से टैक्स पे करना पड़ता है|

क्या है ब्याज दर

तरह के बॉन्ड में निवेश की न्यूनतम सीमा एक ग्राम है| जब इन योजनायों में निवेश करते हैं तो सोने की कीमतों के बढ़ने से मिलने वाले फायदे के अलावा ये बॉन्ड सालाना 2.50 फीसदी ब्याज भी मिलता हैं| इस ब्याज का भुगतान छह महीने में होता है|

  • निकासी विकल्प: सॉवरेटन गोल्ड बॉन्ड (SGB) को बाजार में सोने की मौजूदा कीमतों पर भुनाया जा सकता है|
  • लिक्विडिटी: इन बॉन्ड का बीएसई और एनएसई पर लिस्ट होना जरूरी है| इससे शेयर बाजार में लिक्विडिटी सुनिश्चित होती है|

विदित हो, इससे पहले भी मोदी सरकार ने महीने की शुरुआत में ही इस बांड की सॉवरेन गोल्ड बांड पांचवी योजना जारी की थी| सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम नवंबर 2015 में लॉन्च हुई थी| इसका मकसद फिजिकल गोल्ड की मांग को कम करना और डिजिटल ऑनलाईन खरीदी को बढ़ावा देना|