Arthgyani
होम > बाजार > सोने का आयात 54.4 फीसदी घटा

सोने का आयात 54.4 फीसदी घटा

अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना और चांदी के दामों में गिरावट

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने जुलाई में वित्त वर्ष 2019-20 का पूर्ण बजट पेश करते हुए सोने पर आयात शुल्क 10 फीसदी से बढ़ाकर 12.5 फीसदी करने की घोषणा की थी।जिसके कारण बीते चार महीनों में  सोने के आयात में भारी गिरावट आयी है|इसके अतिरिक्त जुलाई के बाद अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोने के दाम में जबरदस्त उछाल का प्रभाव भी सोने के आयात में कमी का एक बड़ा कारण माना जा रहा है|

दाम में भारी वृद्धि से घटा आयात: 

विदित हो कि महंगी धातुओं पर सीमा शुल्क में बढ़ोतरी के बाद देश में सोने के आयात में काफी गिरावट आई है। बीते चार महीनों में भारत का सोना आयात 54.4 फीसदी घट गया।बीते जुलाई से अक्टूबर के दौरान भारत ने कुल 114 टन सोने का आयात किया है, जबकि पिछले साल इसी अवधि के दौरान देश में 250 टन सोने का आयात हुआ था। इंडिया बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन (आईबीजेए) के नेशनल सेक्रेटरी सुरेंद्र मेहता ने समाचार एजेंसी आईएएनएस को बताया कि आयात शुल्क में बढ़ोतरी के साथ-साथ इस साल सोने के दाम में भारी वृद्धि भी एक बड़ी वजह है, जिसके चलते सोने के आयात में गिरावट आई है।

ये हैं आंकड़े: 

आईबीजेए द्वारा संकलित आंकड़ों को देखें तो जुलाई के पहले देश में इस साल सोने का आयात पिछले साल के मुकाबले ज्यादा हो रहा था, लेकिन जुलाई से आयात घटने लगा है।इस साल जनवरी से मार्च तक भारत ने 168 टन सोने का आयात किया, जबकि पिछले साल इन तीन महीनों में सोने का आयात 164 टन था। वहीं, अप्रैल से जून के दौरान सोने का आयात 258 टन हुआ, जबकि 2018 की इसी अवधि के दौरान सोने का आयात 200 टन हुआ था।

घरेलू बाजार मे मंदी का प्रभाव :

सर्राफा कारोबारी भी सोना महंगा होने के कारण आयात में कमी की बात को मानते हैं| चार महीनों में सोने के दाम में 100 डॉलर प्रति औंस से ज्यादा की तेजी रही।एक जुलाई को अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोने का भाव 1,400 डॉलर प्रति औंस था, जबकि 31 अक्टूबर को 1,514 डॉलर प्रति औंस था। इन चार महीनों की अवधि के दौरान चार सितंबर को सोने का भाव 1,566 डॉलर प्रति औंस तक उछला।कुछ कारोबारी घरेलू बाजार मे मंदी के प्रभाव को पीली धातु की मांग नरमी की वजह बताते हैं|

अंतरराष्ट्रीय बाजारों में बिकवाली:

अंतरराष्ट्रीय बाजारों में बिकवाली के कारण सोना सस्ता हुआ है| अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना और चांदी दोनों में गिरावट रही|सोने का भाव 1,458 डॉलर प्रति औंस रहा जबकि चांदी 16.86 डॉलर प्रति औंस रही|बाजार विश्लेषक इसे अमेरिका और चीन के बीच व्यापार सौदे से जोडकर देख रहे हैं| अमेरिका और चीन के बीच शुरूआती समझौते की उम्मीद से वैश्विक शेयर बाजारों में तेजी रही|इस समझौते पर साल के अंत तक दस्तखत किये जा सकते हैं| अंतरराष्ट्रीय बाजारों में सोने की बिकवाली के बीच दिल्ली के  हाजिर बाजार में 24 कैरेट सोने का भाव 166 रुपये नीचे आया|राजधानी में सोने की कीमत सोमवार को 166 रुपये टूटकर 38,604 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गई| जबकि शनिवार को सोना 38,770 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था|इस दौरान चांदी का भाव भी 402 रुपये टूटकर 45,178 रुपये किलो रहा|जो कि पिछले कारोबारी दिवस में 45,580 रुपये पर पहुंच गया था|O