Arthgyani
होम > न्यूज > व्यापार समाचार > सोयाबीन उत्पादन में 37 करोड़ टन वृद्धि के आसार

सोयाबीन उत्पादन में 37 करोड़ टन वृद्धि के आसार

सोयाबीन के उत्पादन में भारत पांचवे स्थान पर है

कृषि मंत्रालय के तीसरे अनुमान के अनुसार सोयाबीन का उत्पादन 1.37 करोड़ टन वृद्धि के आसार हैं| विश्व में सोयाबीन के उत्पादन में भारत पांचवे स्थान पर है| तिलहन उद्योग के शीर्ष संगठन सोयाबीन प्रोसेसर्स एसोसिएशन (सोपा) के आंकड़ों के मुताबिक, सोयाबीन का उत्पादन पिछले साल यह 83.6 लाख टन के करीब था, जबकि इस वर्ष 1.148 करोड़ टन रहेगा| इस वर्ष सरसों का उत्पादन भी 87.8 लाख टन, मूंगफली का उत्पादन 65 लाख टन होने का अनुमान है| 

उल्लेखनीय है कि, थोडे दिनो पहले सोयाबीन का भाव 3.3 प्रतिशत बढ़कर 3691 रुपये प्रति क्विंटल था. जो कि इन दिनो सोयाबीन का भाव दो फीसदी चढ़ गया काफी तेजी देखने को मिली. कमोडिटी एक्सचेंज एनसीडीईएक्स (NCDEX) पर सोयाबीन का भाव एक फीसदी तेजी के साथ 3724 रुपये प्रति 100 क्विंटल का कारोबार रहा.  सूत्रो की माने तो केडिया कमोडिटी के एमडी अजय केडिया का कहना है कि भारी बारिश और बाढ़ के कारण मध्य प्रदेश में सोयाबीन की फसल को नुकसान की आशंका है, जिससे कीमतों के भाव बढ़ने का अनुमान लगाया जा सकता है|

इंदौर के भारतीय सोयाबीन अनुसन्धान संस्थान (आईआईएसआर) के निदेशक वीएस भाटिया ने बताया कि सबसे बड़े सोयाबीन उत्पादक मध्यप्रदेश में मानसून में देरी हुई| और फिर बारिश तीव्र होने से सोयाबीन खराब होने का अनुमान है|