Arthgyani
होम > बाजार > स्वेट इक्विटी शेयर क्या है?

स्वेट इक्विटी शेयर क्या है?

जाने इसके इशू करने की प्रक्रिया और यह अन्य शेयरों से अलग कैसे!

जो शेयर कंपनी के कर्मचारियों और डायरेक्टर्स को रियायती मूल्य पर या निःशुल्क आबंटित किए जाते हैं उन्हे स्वेट शेयर कहा जाता हैI आज स्टार्टअप के समय में Sweat Equity Share बहुत ही  लोकप्रिय होते जा रहे हैं| चलिए जानते हैं की इसको इशू कैसे किया जाता हैं और यह आम शेयरों से अलग कैसे है| 

स्वेट शेयर (Sweat Share) जारी करने की प्रक्रिया

स्वेट शेयर जारी करने के लिए एक प्रक्रिया अपनाई जाती है, जिसमे सर्वप्रथम कंपनी को एक विशेष प्रस्ताव पास करना होता है| उस प्रस्ताव पत्र में कंपनी को बताना होता है की वह कितने शेयर जारी कर रही है और प्रति शेयर का मूल्य क्या होगा| साथ ही जिन लोगों को भी ये शेयर इशू किए जा रहे हैं उनका नाम और शेयर की संख्या उस प्रस्ताव पत्र में अंकित होगी| अगर कंपनी के शेयर पहले से ही शेयर मार्केट में लिस्टेड है तो कंपनी को इन स्वेट शेयर को जारी करते समय सेबी के द्वारा बताए गए सभी दिशा-निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होगा|

स्वेट शेयर अन्य शेयरों से अलग कैसे है: 

  1. कोई भी कंपनी Sweat Equity Share जारी कर सकती है जिसने अपने कार्यान्वयन के एक वर्ष पुरे कर लिए हो|
  2. इस शेयर का एक उद्देश्य कंपनी के आन्तरिक लोगों को कंपनी में हिस्सेदार बना कर जोड़ना भी होता है| 
  3. स्वेट इक्विटी शेयर आम लोगों को नहीं यानी पब्लिक को नहीं जारी किए जाते हैं बल्कि यह सिर्फ कंपनी के आंतरिक फाउंडर, डायरेक्टर्स और कर्मचारियों को ही जारी किए जा सकते हैं|
  4. अगर किसी कंपनी ने मार्केट में पहले से ही इक्विटी शेयर जारी कर रखे हैं तो स्वेट इक्विटी शेयर उसके मूल्य के समकक्ष ही जारी हो सकते हैं, मगर हां अगर कंपनी चाहे तो इसे डिस्काउंट के साथ जारी कर सकती है| 
  5. स्वेट इक्विटी शेयर सामान्यतः नई स्टार्टअप कंपनियां अपने फाउंडर, डायरेक्टर्स और कर्मचारियों को कंपनी में हिस्सेदारी के तौर पर वितरित करती हैं और कभी-कभी यह वेतन के विकल्प के तौर पर भी दिया जाता है| साथ ही कर्मचारियों के सेवाओं से खुश होकर भी यह वितरित किए जाते हैं| 
  6. स्वेट इक्विटी शेयर एकमात्र शेयर है जिसे डिस्काउंट पर जारी किया जा सकता है| 

इस प्रकार से स्वेट इक्विटी शेयर वास्तव में स्वेट यानी पसीनें यानी मेहनत के फलस्वरूप प्रदान किए जाते हैं और इसका एक उद्देश्य कर्मचारियों और डायरेक्टर्स को कंपनी से जुड़े रहने के लिए प्रेरित करना भी होता है|