Arthgyani
होम > न्यूज > बिजली विभाग की हरियाणा मे स्मार्ट मीटर लगाने की तैयारी

बिजली विभाग की हरियाणा मे स्मार्ट मीटर लगाने की तैयारी

हरियाणा मे लगेंगे स्मार्ट मीटर

हरियाणा इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन (एचईआरसी) के चेयरमैन दीपेंद्र सिंह ढेसी की अध्यक्षता में सोमवार को पंचकूला में  स्टेट एडवाइजरी कमेटी की मीटिंग हुई। जिसमें कुसुम स्कीम, स्मार्ट मीटर, प्रीपेड मीटर, सिंगल प्वायंट कनेक्शन, रूफ टॉप सोलर,  सीजीआरएफ, महाराष्ट्र की तर्ज पर फ्रेंचाइजी वितरण, बायोमॉस और एचपीजीसीएल के थर्मल प्लांटों सहित कई विषयों पर बातचीत हुई। स्टेट एडवाइजरी कमेटी की खास बात यह रही कि इसमें एचईआरसी के पूर्व चेयरमैन आर.एन.परासर ने भी कमेटी के साथ अपने अनुभवों को साझा किया तथा उर्जा क्षेत्र को और बेहतर बनाने के सुझाव दिए।

सेट्रल इलेक्ट्रिसिटी एक्ट 2003 के सेक्शन 87 और 88 में स्टेट एडवाइजरी कमेटी का उल्लेख है। उसके तहत ही यह मीटिंग आमंत्रित की गई थी। इस मीटिंग में कई विषयों पर बात हुई,  बिल्डरों द्वारा बिजली का इंफ्रास्ट्रक्चर समय सीमा तैयार ना करने पर भी सवाल उठा। इस बात पर मीटिंग में मौजूद टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के डायरेक्टर ने आश्वासन देते हुए कहा इस बात पर अच्छे से गौर किया जायेगा इस काम को जल्द से जल्द निपटाया जायेगा। कई तकनीकी विषयों जिसमें स्मार्ट मीटर, प्रीपेड मीटर और दूसरे कई विषयों पर भी बातचीत हुई।

नई योजनाओं पर हो रहा है तेजी से काम

चेयरमैन ने बताया कि सौर ऊर्जा से चलने वाले पंपों के लिए 15 हजार 800 किसानों के आवेदन उनके पास आए हैं। इस दिशा में तेजी से आगे कार्य किया जा रहा है। चेयरमैन ने उपभोक्ता शिकायत निवारण मंच के बारे में लोगों को ज्यादा से ज्यादा जानकारी देने की बात कही। चेयरमैन ने सेंट्रल इलेक्ट्रिसिटी एक्ट 2003 की धारा 42 की उप धारा 5 का जिक्र करते हुए कहा कि इसमें सीजीआरएफ का जिक्र है, बिजली उपभोक्ताओं को इस बारे में अच्छे से जानकारी देने का काम करें। इस पर चेयरमैन ढेसी ने कहा कि सीजीआरएफ के बारे में शहरों में आरडब्ल्यूए से कहा जाए और गांवों में ग्राम पंचायतों को इस बारे में प्रचार के लिए कहा जाए ताकि बिजली उपभोक्ताओं को किसी प्रकार की दिक्कत न हो।

किन-किन शहरों मे लगाए गए स्मार्ट मीटर

चेयरमैन  ने स्मार्ट मीटर और प्रीपेड मीटर की जानकारी ली, सीएमडी शत्रुजीत कपूर ने बताया कि अभी तक गुरुग्राम, करनाल और पंचकूला में 90 हजार स्मार्ट मीटर लग चुके हैं, पानीपत, फरीदाबाद और हिसार में भी स्मार्ट मीटर लगाने की योजना है। शत्रुजीत कपूर ने कहा कि  31 मार्च 2021 तक 10 लाख स्मार्ट मीटर लगाने की योजना है, साथ ही प्रीपेड मीटर का सॉफ्टवेर  1 अप्रैल तक तैयार कर लिया जाएगा। इसके अलावा  रूॅफ  टॉप सोलर, सिंगल प्वायंट कनेक्शन के बारे में भी डिस्कॉम के बारे मे भी बात हुई।

डिस्कॉम  मॉडल के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में बताया कि रोहतक में 21 फीडर, झज्जर में 10 फीडर और नारनौल में 10 फीडर का काम ग्रामीण बेरोजगार युवकों को दिया गया है, वहां पर वे इनकी मेंटेनेंस  से लेकर बिजली बिलिंग की कलेक्शन तक का काम करते हैं। मीटिंग में बिजली की शिकायतों के लिए 1912 टोल फ्री नों. का भी जिक्र हुआ  टोल फ्री न. पर कॉल आते ही बिजली अधिकारी इस पर तुरंत कार्यवाही शुरू करते हैं।