Arthgyani
होम > बाजार > केनरा बैंक

14% बढ़ा केनरा बैंक का प्रॉफिट, टोटल रेवेन्यू 14,461.73 करोड़ रुपये

केनरा बैंक का नेट प्रॉफिट 22% बढ़कर 364.92 करोड़ रुपये रहा

केनरा बैंक के लोन डाउन होने और ऑपरेशनल इनकम अप होने के कारण बैंक का कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट सितंबर तिमाही में 14 पर्सेंट बढ़कर 405.49 करोड़ रुपये हुआ। बैंक के पब्लिक सेक्टर को पिछले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 356.55 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट हुआ था। बैंक की रेगुलेटरी फाइलिंग में 15,509.36 करोड़ रुपये की टोटल इनकम (कंसॉलिडेटेड) हुई जो साल भर पहले 13,437.83 करोड़ रुपये रही थी। बैंक को सितंबर क्वॉर्टर में 12,500.37 करोड़ रुपये की इंटरेस्ट इनकम हुई जो पिछले साल इसी दौरान 11,015.93 करोड़ रुपये थी।

पीटीआई की खबर से बैंक का नेट प्रॉफिट 22% बढ़कर 364.92 करोड़ रुपये रहा जो साल भर पहले की तिमाही में 299.54 करोड़ रुपये था। इस दौरान बैंक की टोटल इनकम 12,679.06 करोड़ रुपये से बढ़कर 14,461.73 करोड़ रुपये हो गई। बैंक का ग्रॉस एनपीए सितंबर के अंत में 8.68 पर्सेंट मतलब 38,711.33 करोड़ रुपये रहा जो पिछले वर्ष 45,233.22 करोड़ रुपये यानी 10.56 पर्सेंट था। बैंक का नेट एनपीए इस दौरान घटकर 5.15 पर्सेंट (22,090.04 करोड़ रुपये) हुआ| जो कि वित्त वर्ष 6.54 पर्सेंट (26,777.64 करोड़ रुपये) था। सितंबर क्वॉर्टर में कंसॉलिडेटेड बेसिस पर बैड लोन से बैंक की प्रोविजनिंग घटकर पिछले साल के मुकाबले 2,406.84 करोड़ रुपये से घटकर 2,297.43 करोड़ रुपये हुई है|

बैंक ने बताया कि, ग्रुप कंपनीज के कंसॉलिडेटेड फाइनेंशियल स्टेटमेंट (CFS) में आठ सब्सिडियरी, दो रीजनल रूरल बैंक्स (RRB) और एक ज्वाइंट वेंचर सहित चार एसोसिएट के रिजल्ट्स शामिल हैं। वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में सरकार को इक्विटी शेयरों के प्रेफरेंशियल अलॉटमेंट के लिए बैंक को 27-30  सितंबर में सरकार से 6,571 करोड़ रुपये मिले थे। रिजर्व बैंक ने इक्विटी शेयरों का अलॉटमेंट होने तक बैंक को  CET1 को पूंजी के तौर पर रखने की इजाजत मिली है|