Arthgyani
होम > न्यूज > सेवा क्षेत्र

सर्विस सेक्टर अपने सात साल के शीर्ष पर रिकॉर्ड बना रही है

इसकी वजह चीन, यूरोप और अमेरिका में मांग का कमजोर होना है।

कुछ भी कहा जा रहा हो मगर आंकड़े बता रहे हैं कि देश की इकॉनमी अब सुधार की ओर अग्रसर है और हर क्षेत्र में रौनक लौट रही है।  मंगलवार को मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की गतिविधियाँ बढ़ने की ख़बर आई थी अब ख़बर है कि सेवा क्षेत्र में गतिविधियों ने ज़ोर पकड़ा है।

समाचार एजेंसी से प्राप्त ख़बरों के अनुसार देश में सेवा क्षेत्र अर्थात सर्विस सेक्टर की गतिविधियों में वृद्धि ने जनवरी में रिकॉर्ड बनाया है। सेवा क्षेत्र की गतिविधियां पिछले सात साल के उच्च स्तर पर पहुंच गई है।  मासिक रूप से होने वाले एक सर्वे के अनुसार अनुकूल बाजार परिस्थितियां, कारोबारी सकारात्मक धारणा और नए ऑर्डर मिलने की वजह से गतिविधियां तेज़ हुई है।

नए आर्डर में वृद्धि 

अर्थशास्त्री पॉलियाना डि लीमा ने कहा, ‘2020 की शुरुआत में भारत के सेवा क्षेत्र में जान आ गई है। नरमी की आशंकायें ग़लत सावित हुई है और  2019 के अंत में जो बाज़ार में बढ़त बनी उससे गतिविधियों में वृद्धि देखी गई है।’ इस अवधि में नए ऑर्डर मिलने की स्थिति भी सात साल के सबसे बेहतर स्तर पर है। अधिकतर नए ऑर्डर घरेलू बाजार से मिले हैं, जबकि इस साल की शुरुआत से सेवा के निर्यात में गिरावट देखी गई है। इसकी वजह चीन, यूरोप और अमेरिका में मांग का कमजोर होना है।

आईएचएस मार्किट इंडिया सर्विसेस बिजनेस एक्टिविटी इंडेक्स (सेवा पीएमआई) जनवरी में 55.5 अंक पर रहा है, जबकि दिसंबर में यह 53.3 अंक था। यह 2013 से 2020 की अवधि में सेवा पीएमआई का सबसे ऊंचा स्तर है।

रोजगार निर्माण में वृद्धि

बिक्री में मजबूती आई है जिसके कारण कारोबारियों की आय में वृद्धि हुई है।  नौकरी की तलाश करने वालों के लिए ये अच्छी ख़बर है।  बिक्री में मजबूती ने मांग को पूरा करने के लिए सेवा प्रदाताओं ने अपनी क्षमता बढ़ाना जारी रखा है। ऐसे समय में जब हर तरफ़ मांग और वृद्धि जोरो पर है जाहिर है रोजगार निर्माण में वृद्धि हो रही है।

निर्माण उद्योग में अगस्त 2012 के बाद 2020 में रोजगार निर्माण में वृद्धि का रुख देखा जा रहा है।