Arthgyani
होम > न्यूज > Hyundai ने वापस मंगाए i10 और Xcent की 16 हज़ार से ज्यादा कारें

Hyundai ने वापस मंगाए i10 और Xcent की 16 हज़ार से ज्यादा कारें

ये कारें 1 अगस्त 2017 से 30 सितंबर 2019 के बीच बनी हैं

Hyundai ने अपनी दो कारों Grand i10 और Xcent के 16,409 सीएनजी मॉडल कारों को वापस मंगाएं हैं| कंपनी ने जो 16,409 कारें रिकॉल की हैं, वे 1 अगस्त 2017 से 30 सितंबर 2019 के बीच मैन्युफैक्चर हुई हैं| Hyundai ने कहा है कि CNG फिल्टर असेंबली में खामी के चलते इन कारों को वापस मंगाया जा रहा है| इन सभी कारों में फैक्ट्री फिटेड CNG किट दी गई है|

Non-ABS मॉडल हैं

Hyundai के रिकॉल नोटिस में कहा गया है कि प्रभावित कारें Non-ABS मॉडल हैं| ऐसे में इस बात की पूरी संभावना है कि वापस मंगाई गई कारों में ज्यादातर ‘प्राइम मॉडल’, यानी टैक्सी सर्विस में चलने वाली कारें होंगी|

इन 16,409 प्रभावित कारों को चेकिंग के लिए 25 नवंबर से Hyundai के वर्कशॉप पर बुलाया जाएगा| इसके लिए कंपनी डीलरशिप के माध्यम से प्रभावित कारों के मालिकों से संपर्क करेगी| कंपनी के अनुसार वर्कशॉप में इन कारों के चेकिंग में करीब एक घंटे का समय लगेगा| चेकिंग में अगर कार के CNG फिल्टर असेंबली में खामी पाया गया तो इसे ठीक किया जाएगा| इसके लिए ग्राहकों से कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा, यानी कंपनी इस खामी को फ्री में ठीक करेगी|

पावर

Hyundai के प्राइम मॉडल्स मूलरूप से नई कारों के पुराने वर्जन हैं| फिलहाल ग्रैंड i10 और Xcent फ्लीट (टैक्सी सर्विस) के लिए उपलब्ध हैं| इन कारों के सीएनजी मॉडल में दिया गया 1.2-लीटर पेट्रोल इंजन 66.2hp की पावर और 99Nm टॉर्क जेनरेट करता है| इंजन 5-स्पीड ट्रांसमिशन से लैस है|

सेकंड जेनरेशन एक्सेंट में फैक्ट्री फिटेड सीएनजी ऑप्शन नहीं

 NBT की रिपोर्ट के मुताबिक Hyundai ने सीमित समय के लिए फर्स्ट-जेनरेशन Xcent को CNG ऑप्शन के साथ पेश किया था, जबकि ग्रैंड i10 अभी भी CNG के विकल्प के साथ आती है| सेकंड जेनरेशन Xcent में फैक्ट्री फिटेड CNG ऑप्शन नहीं दिया गया है|

ज्यादातर प्रभावित कारें टैक्सी सर्विस में है 

कंपनी के अनुसार रिकॉल की गई ज्यादातर ‘प्राइम मॉडल’ की कारें हैं, इसलिए अनुमान लगाया जा रहा है कि अधिकतर प्रभावित कारें टैक्सी सर्विस में चलने वाली होंगी| कंपनी का कहना है कि 25 नवंबर से इन सभी 16,409 प्रभावित कारों को वर्कशॉप में मंगाया जाएगा और जो भी जरुरी परिवर्तन किए जायेंगे उसके लिए ग्राहकों से कोई भी भुगतान नहीं लिया जाएगा| 

नजदीकी डीलर करेंंगे कार मालिक से संपर्क

कंपनी अपने कार डीलरों के जरिए कार मालिकों को इस बारे में जानकारी देगी और उन्हें कार वर्कशॉप में लाने की सलाह देंगे| वर्कशॉप पर चेकिंग में करीब एक घंटे का वक्त लगेगा| इस दौरान अगर CNG फिल्टर असेंबली में गड़बड़ी पाई गई तो उसे निशुल्क ठीक किया जाएगा| 

गौरतलब है कि Hyundai ने फर्स्ट-जेनरेशन Xcent को CNG मॉडल के साथ सीमित समय के लिए पेश किया था, जबकि ग्रैंड i10 अभी भी सीएनजी के साथ आती है| Hyundai सेकेंड जेनरेशन Xcent में फैक्ट्री फिटेड CNG ऑप्शन नहीं दिया गया है| 

कंपनी के अनुसार यह रिकॉल अपने ग्राहकों को सुरक्षा और अच्छी सर्विस देने के उद्देश्य से कर रही है, वहीं विशेषज्ञों के अनुसार यह एक कार की खामी है जिसे कंपनी सुधार करने का प्रयास कर रही है|