Arthgyani
होम > न्यूज > वाहनों की बिक्री के लिए नवंबर महीना रहा शुभ, बिक्री में हुई वृद्धि

वाहनों की बिक्री के लिए नवंबर महीना रहा शुभ, बिक्री में हुई वृद्धि

फाडा के आंकड़ों से पता चला बढे हैं वाहन खरीददारी पर कमर्शियल वाहनों की बिक्री में दर्ज हुई गिरावट

फाडा की रिपोर्ट के मुताबिक नवंबर माह में देश में वाहन बिक्री पिछले साल 2018 के मुकाबले 2 फीसदी ज्यादा रही| दोपहिया, तिपहिया और पैसेंजर व्हीकल में जहां बढ़ोत्तरी दर्ज की गई| वहीं कमर्शियल वाहनों की बिक्री में 8 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई| इस दौरान सबसे ज्यादा 30 फीसदी बिक्री तिपहिया वाहनों की हुई| पैसेंजर व्हीकल की बिक्री में पिछले साल के मुकाबले महज 1 फीसदी की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई| वहीं दोपहहिया वाहनों की बिक्री में इस दौरान 3 फीसदी की बढ़ोत्तरी रही|

नवंबर में यात्री वाहनों के रजिस्ट्रेशन में मामली बढ़ोतरी देखी गई है| Fada की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक नवंबर में एक फीसदी की बढ़ोतरी हुई है और पूरे देश में कुल 2,57,271 यात्री वाहनों का रजिस्ट्रेशन किया गया, वहीं पिछले साल यह आंकड़ा 2.55 लाख था|

कमर्शियल वाहनों की बिक्री घटी

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (fada) ने वाहन डाटाबेस के आंकड़ों के मुताबिक बताया कि नवंबर महीने में रिटेल बिक्री बढ़ी है, वहीं साल दर साल कमर्शियल वाहनों की बिक्री घट रही है| नवंबर 2019 में आठ फीसदी की कमी के साथ 77,394 गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन हुआ, जबकि पिछले साल नवंबर में यह संख्या 84,040 यूनिट्स था|

दोपहिया वाहनों की बिक्री में हुआ इजाफा 

वहीं नवंबर में तिपहिया वाहनों की बात करें तो पिछले साल के मुकाबले 20 फीसदी ज्यादा 65,348 वाहनों का रजिस्ट्रेशन हुआ| जबकि पिछले साल नवंबर 2018 में यह संख्या 54,639 यूनिट थी| वहीं दोपहिया वाहनों की बिक्री में भी तीन फीसदी का इजाफा हुआ है| नवंबर में 17.05 लाख दोपहिया वाहनों का रजिस्ट्रेशन हुआ, पिछले साल यह आंकड़ा 16.6 लाख यूनिट्स था|

बाज़ार तक पहुचे कृषि उत्पाद 

फाडा का कहना है कि कुल मिलाकर दो फीसदी ज्यादा 21.05 लाख सभी प्रकार के वाहनों का रजिस्ट्रेशन हुआ, जो पिछले साल नवंबर 2018 में 20.54 लाख था| फाडा के अध्यक्ष आशीष हर्षराज काले का कहना है कि कमर्शियल व्हीकल सेगमेंट को छोड़ दें, तो नवंबर महीने ने डीलरों के चेहरों पर खुशी ला दी है| उनका कहना है कि लंबे खिंचे मानसून के चलते खेती में देरी हुई और अब कृषि उत्पाद बाजार में पहुंचना शुरू हो गए हैं| जिससे अर्ध-शहरी और ग्रामीण बाजारों में भी तेजी आई है| साथ ही, सरकार की तरफ से उठाए गए सकारात्मक उपायों ने भी भूमिका निभाई है|

यात्री वाहनों की बिक्री में गिरावट

अमर उजाला की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ मंगलवार को सियाम ने आंकड़े जारी कर बताया था कि नवंबर में घरेलू बाजार में यात्री वाहनों की बिक्री में 0.84 फीसदी की गिरावट आई है| पिछले महीने 263,773 यूनिट्स की बिक्री हुई थी, वहीं पिछले साल नवंबर अक्तूबर में यह आंकड़ा 266,000 यूनिट्स का रहा था| वहीं कमर्शियल सेगमेंट में गिरावट का दौर देखा गया है| पिछले महीने घरेलू बाजार में कमर्शियल वाहनों की बिक्री में 14.98 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है| नवंबर 2019 में यह आंकड़ा 61,907 यूनिट्स का रहा, जबकि पिछले साल इसी महीने में यह संख्या 72,812 यूनिट की थी|

तिपहिया वाहनों की बिक्री में इजाफा

वहीं नवंबर में दोपहिया वाहनों की बिक्री 1,410,939 यूनिट्स की रही, जो पिछले साल नवंबर 2018 के मुकाबले 14.27 फीसदी कम थी| पिछले साल नवंबर में 1,645,783 दोपहिया वाहन बिके थे| जबकि तिपहिया वाहनों की बिक्री में 4.45 फीसदी का इजाफा हुआ है| नवंबर में 55,778 दोपहिया वाहनों की बिक्री हुई, जबकि नवंबर 2018 में यह आंकड़ा 53,401 यूनिट्स का था|

राज्यवार बात करें तो कर्नाटक और दिल्ली जैसे आर्थिक रुप से संपन्न राज्य में नवंबर माह में वाहन खरीदारी में बड़ी गिरावट दर्ज की गई, जबकि आर्थिक रुप से कमजोर राज्य यूपी और बिहार में ज्यादा वाहन खरीदे गए| फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएसन के मुताबिक इस साल नवंबर माह में उत्तर प्रदेश में पिछले साल के मुकाबले 19 फीसद ज्यादा वाहन खरीदे गए| इस तरह यूपी 3,19,405 यूनिट वाहन के साथ नवंबर माह में देश में सबसे ज्यादा वाहन खरीदारी वाला राज्य रहा| इसी दौरान दिल्ली में वाहन खरीदारी में पिछले साल के मुकाबले 25 फीसद की गिरावट दर्ज की गई| वहीं गुजरात में यह गिरावट 21 फीसदी रही|