Arthgyani
होम > न्यूज > BSNL और MTNL

BSNLऔर MTNL की VRS योजना समाप्त

दूरसंचार कंपनीयों के 92,700 कर्मचारियों ने ली स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (VRS)

सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनियां भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) और महानगर टेलेफोन निगम लिमिटेड (MTNL) की स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (VRS) योजना समाप्त हो चुकी है। दोनों दूरसंचार कंपनियों के कुल मिलाकर 92,700 कर्मचारियों ने वीआरएस का आवेदन कर चुकें हैं। एजेंसी की खबर के मुताबिक, स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति की योजना के लिए बीएसएनएल के 78,300 कर्मचारियों और एमटीएनएल के 14,378 कर्मचारी आवेदन दे चुके हैं। जिसमें VRS के लिए  आवेदन कर चुके कर्मचारियों के अलावा 6,000 कर्मचारी ऐसे हैं जो सेवानिवृत्त हो चुके हैं।

बीएसएनएल के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक पी. के. पुरवार

बीएसएनएल के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक पी. के. पुरवार ने बताया कि, सभी टेलीकॉम सर्किल से मिले आंकड़ों के मुताबिक, लगभग 78,300 कर्मचारियों ने अभी तक वीआरएस लेने के लिए आवेदन किया है।” इस समय देश भर में BSNL के करीब 1.50 लाख कर्मचारी हैं।

एमटीएनएल के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक सुनील कुमार

वहीं, एमटीएनएल के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक सुनील कुमार ने बताया कि, MTNL का लक्ष्य 13,650 कर्मचारियों को VRS देना था, लेकिन 14,378 कर्मचारियों ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है। इससे हमारा सालाना वेतन बिल 2,272 करोड़ रुपये से घटकर 500 करोड़ रुपये रह जाएगा। पीएसयू वीआरएस के लक्ष्य से आगे निकल गई है।”

सरकार ने व्यवस्था की सॉवरेन गारंटी बांड की

सरकार दोनों ही दूरसंचार कंपनियों के कार्य खर्च की व्यवस्था करने के लिए सॉवरेन गारंटी बांड जारी करने की अनुमति से दी है। जिसमें15,000 करोड़ की राशि निवेश किया है। इसके साथ ही GST के मद में होने वाली कमाई से 3,674 करोड़ रुपये स्पेक्ट्रम की लागत के रूप में देने के लिए बजटीय आवंटन किया जा सकता है। हांलाकि सरकार ने नवंबर महीने में BSNL और MTNL के लिए 69,000 करोड़ रुपये के पुनरुद्धार पैकेज की घोषणा की थी। इनका इस्तेलाम घाटे में चल रही दोनों ही सरकारी कंपनियों के कर्मचारियों को VRS देने के लिए किया जा रहा है।