Arthgyani
होम > न्यूज > कच्चे तेल की वायदा बाजार में हुई 1.87 प्रतिशत की बढ़त

कच्चे तेल की वायदा बाजार में हुई 1.87 प्रतिशत की बढ़त

फिलहाल कच्चा तेल 3,495 रूपये प्रति बैरल हो गया है।

शेयर बाजार में काफी लंबे समय से सुस्ती छाई हुई है। इसके पीछे बहुत से कारण है जिसके चलते बाजार ठंडे पड़े हैं। इसका एक कारण कोरोना वायरस भी है। जिसके चलते बाजार में काफी सुस्ती आई है। बाजार के हर क्षेत्र में नरमी देखने को मिली है। निवेशक बाजार में पैसा लगाने से बच रहे हैं।

शेयर बाजार में सुस्ती के चलते कच्चे तेल में बढ़ोतरी देखने को मिली है। मंगलवार को कच्चे तेल में 1.87 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। फिलहाल कच्चा तेल 3,495 रूपये प्रति बैरल हो गया है। विदेशी बाजार में सकारात्मकता आई है जिसका असर यहाँ के बाजार पर भी देखने को मिला है।

कच्चे तेल में हुई 64 रूपये की बढ़त 

कारोबारियों ने भी बाजार में रूचि दिखाई है। कारोबारियों ने बाजार में निवेश करना शुरू किया है जिसके कारण भाव में बढ़ोतरी हुई है। विश्लेषकों का मानना है की कारोबारियों के द्वारा किये गए नए सौदों का असर पड़ा है बाजार पर।

कच्चे तेल का करोबार मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में मार्च की डिलीवरी के लिए हुआ था जिसमे 64 रूपये या 1.87 प्रतिशत की बढ़त हुई है। ये कारोबार 25,185 लाट के लिए हुआ था। अप्रैल महीने का कारोबार भी तय हुआ इसमें कच्चे तेल का दाम 66 रूपये या 1.91 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 3,523 रूपये प्रति बैरल हो गया है। अप्रैल का कारोबार 987 लाट के लिए हुआ है। वश्विक स्तर पर कारोबार में हुई बढ़ोतरी के चलते कच्चे तेल में भी बढ़ोतरी हुई है।