Arthgyani
होम > म्यूच्यूअल फंड > EPFO

EPFO ने PF को लेकर किया एलान, कर्मचारीयों को मिलेगी राहत

संगठित क्षेत्र के कारोबारी अपना यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) स्वयं बना सकेंगे

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन/ Employees’ Provident Fund Organisation (EPFO) द्वारा कर्मचारियों के लिए उनकी PF जमा राशि की निकासी के लिए ऑनलाइन सुविधा मौजूद दी है| इस ऑनलाइन सुविधा का लाभ पांच करोड़ से अधिक लोगों को मिल रहा है| अब आप भी प्रॉविडेंट फंड (PF) में से एडवांस, पूरा या थोड़ा पैसा निकालना चाहते हैं तो घर बैठे ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। पीएफ के पैसा निकालने के लिए दफ्तरों के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी|

ध्यान दें, पीएफ का पैसा आवेदन करने के बाद अकाउंट में सीधे करीब 5 से 10 दिन में आ जाएगा। अब संगठित क्षेत्र के कारोबारी अपना यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) स्वयं बना पाएंगे। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने संगठित क्षेत्र के करोड़ों कर्मचारियों को इस खबर से बड़ी राहत दी है। अभी तक सभी कंपनियां कर्मचारियों के लिए UAN नंबर स्वयं जेनरेट करती थी| लेकिन अब इस सुविधा के आने से कर्मचारी स्वयं अपने लिए यूनिवर्सल अकाउंट नंबर बना सकेंगे|

कर्मचारी स्वयं बना सकेंगें UAN नंबर 

कर्मचारी अपना यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) नंबर ईपीएफओ की वेबसाइट पर स्वयं जनरेट कर सकते हैं| पहले यूएएन नंबर हासिल करने के लिए कर्मचारियों को कंपनी के जरिए अप्लाई करते थे|इस सुविधा से 65 लाख पेंशनभोगियों को लाभ मिलेगा| EPFO ने 65 लाख पेंशनभोगियों के लिए पेंशनर्स भुगतान आदेश जैसे पेंशन से संबंधित दस्तावेज डिजिलॉकर में डाउनलोड की सुविधा शुरू करने की भी घोषणा की है।

EPFO की वेबसाईट द्वारा ऑनलाइन सुविधा से करोड़ों लोगों को लाभ मिल रहा है| जिसमें ऐप्लिकेशन फाइल करने के बाद पीएफ ट्रांसफर से लेकर पीएफ का पैसा निकालने की सारी प्रक्रिया 3 दिनों में पूरी हो जाती है| ऐसे सभी कर्मचारी जिनका पीएफ व बैंक खाता आधार नंबर से जुड़ा है, इस ऑनलाइन सुविधा का लाभ उठा सकते हैं|

EPFO (Employees’ Provident Fund Organisation)

EPFO (कर्मचारी भविष्य निधि संगठन) की स्थापना नवम्बर 15, 1951 में की गयी थी| इसकी स्थापना कारखानों और अन्य संस्थानों में कार्यरत संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों के हितों की रक्षा के लिए की गयी थी| EPFO में उन सभी कार्यालयों और कारखानों को रजिस्टर करना पड़ता है जहाँ पर 20 से अधिक कर्मचारी काम करते हैं साथ ही अगर किसी व्यक्ति की सैलरी Rs. 15000/माह से कम है तो उसे नियमानुसार EPFO में योगदान देना आवश्यक है|