Arthgyani
होम > न्यूज > सरकार के इस ऐलान से सरकारी कर्मचारियों के चेहरे पर आईं मुस्कान

सरकार के इस ऐलान से सरकारी कर्मचारियों के चेहरे पर आईं मुस्कान

NPS को लेकर हो रहा था बहुत विरोध

सरकारी कर्मचारियों से जुड़ी पेंशन स्कीम को लेकर सरकार ने बड़ा फैसला लिया है| नए फैसले के तहत सरकार ने नेशनल पेंशन स्कीम (NPS) से जुड़े सरकारी कर्मचारियों को ‘पुरानी पेंशन स्कीम’ (Old Pension Scheme) में शामिल होने की छूट दे दी है|

सरकार ने दी सहमती

सरकारी आदेश में कहा गया है कि Old Pension Scheme के लिए एलिजिबल होने के बाद इन कर्मचारियों का NPS खाता बंद कर दिया जाएगा| सरकार ने सभी विभागों से इस आदेश को लागू करने को कहा है|

अगर आसान शब्दों में कहें तो केंद्रीय कर्मचारी जिन्होंने 1 जनवरी 2004 या उससे पहले सरकारी नौकरी शुरू की है, अब वो पुरानी पेंशन योजना का फायदा भी उठा सकते हैं, भले ही उनका नियुक्ति इस तारीख के बाद हुई हो| ऐसे कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना (OPS) के सारे लाभ लेने के पात्र होंगे|

OPS को कर्मचारी मानते हैं फायदेमंद 

दरअसल पुरानी पेंशन वह योजना थी जिसमें पेंशन अंतिम ड्रॉन सैलरी के आधार पर बनती थी| OPS में महंगाई दर बढ़ने के साथ DA (महंगाई भत्‍ता) भी बढ़ जाता था| जब सरकार नया वेतन आयोग लागू करती है तो भी इससे पेंशन में बढ़ोतरी होती है|

आपको बता दें कि केंद्र में OPS को पहली जनवरी 2004 से खत्म किया गया था| इसके बाद नई पेंशन योजना (New Pension Scheme, NPS) आई| हालांकि सरकारी कर्मचारी इससे संतुष्‍ट नहीं हैं| वे पुरानी पेंशन योजना को अच्‍छा मानते हैं|

1 जनवरी 2004 को OPS हो गई थी समाप्त 

केंद्र सरकार ने 1 जनवरी 2004 में नई पेंशन योजना लागू की थी| इसके तहत नई पेंशन योजना के फंड के लिए अलग से खाते खुलवाए गए और निवेश के लिए फंड मैनेजर भी नियुक्त किए गए थे| अगर पेंशन फंड का शेयर बाजार, बॉन्‍ड में निवेश का रिटर्न अच्‍छा रहा तो PF और पेंशन की पुरानी स्कीम की तुलना में नए कर्मचारियों को रिटायरमेंट पर अच्छा रिटर्न भी मिल सकता है|

लेकिन कर्मचारी इस पर सवाल उठा रहे हैं| उनका कहना है कि रिटर्न अच्‍छा होगा, यह पहले से कैसे कहा जा सकता है| अगर पैसा डूब गया तो उसका नुकसान कर्मचारी का है| इसलिए वे NPS का विरोध कर रहे हैं|