Arthgyani
होम > टैक्स (कर) > जीएसटी(GST)

GST रिटर्न नहीं भरने पर होगी सख्त कार्रवाई

समय से जीएसटी रिटर्न भरना सर्वाधिक बेहतर विकल्प

सीबीआईसी जानबूझकर gst रिटर्न न भरने वालों के विरुद्ध उठाएगा कठोर कदम|अगर आप जीएसटी रिटर्न भरने वाले 1.23 करोड़ लोगों में शामिल हैं तो ये ध्यान रखें कि समय से रिटर्न का भुगतान सुनिश्चित करें|आखिरी तारीख पर रिटर्न भरने के कारण कई बार सर्वर व्यस्त हो जाने की समस्या आती है|समय से जीएसटी रिटर्न न भरने की स्थिति में आपका जीएसटी पंजीकरण भी हो सकता है रद्द|विदित हो कि रिटर्न भरने के आखिरी दिन एक साथ रिटर्न भरने के कारण कई बार रिटर्न भरने में समस्या आ जाती है|जीएसटी सर्वर पर फिलहाल  एक बार में डेढ़ लाख लोगों के रिटर्न भरने की सुविधा उपलब्ध है|अंतिम तारीख पर एक साथ रिटर्न भरने के कारण लोगों को अपनी बारी का इंतजार करना पड़ा|नवंबर  महीने की बीती  20 तारीख को तो 18 लाख से ज्यादा करदाताओं ने GSTR3B रिटर्न दाखिल किया| जो पिछले महीने की तुलना में 6 लाख ज्यादा हैं|

वित्त मंत्रालय का निर्देश:

वित्त मंत्रालय के अंतर्गत CBIC ने कहा कि ”GSTN वेबसाइट के बारे में जो लोग ये कह रहे हैं कि वेबसाइट का नहीं कर रही वो जान लें कि वेबसाइट ठीक काम कर रही है|रिटर्न भरने में आई समस्या एक साथ रिटर्न भरने की वजह से आयी थी| वेबसाइट पर किसी भी समय पर एक बार में डेढ़ लाख रिटर्न एक साथ भरे जाते हैं और अगर आखिरी दिन का इंतज़ार करेंगे तो रिटर्न भरने में समय लगेगा|निर्देशों के अनुसार आखिरी तारीख का इंतज़ार करने की बजाय समय से पहले ही जीएसटी रिटर्न भर देना सुनिश्चित करें, क्योंकि आखिरी दिन की भीड़ में आपके रिटर्न नहीं भर पाने का बहाना अब नहीं चलेगा|

जानबूझकर नहीं भरा रिटर्न तो होगी कार्रवाई:

बता दें हर महीने की 20 तारीख जीएसटी रिटर्न भरने के लिये निर्धारित है| जीएसटी के 1.23 करोड़ करदाता में से करीब 88 लाख करदाता GSTR3B नियमित रिटर्न भरते हैं|अगर आपने रिटर्न जानबुझ कर नहीं भरा और लगातार दो महीने तक नहीं भरा तो ये लापरवाही आपके व्यापार के लिये मुसीबत का सबब बन सकती है|जी न्यूज़ की रिपोर्ट के मुताबिक CBIC उठाने जा रही है ये सख्त कदम| दो महीने लगातार रिटर्न नहीं भरने की स्थिति में आपका ई-वे बिल जनरेट नहीं, और आपके लिये आपके जीएसटी नंबर पर कोई और भी ई-वे बिल जनरेट नहीं कर पाएगा| जो लोग इस राज्य से दूसरे राज्य में कारोबार करते हैं उनके लिये ई-वे बिल बहुत राहत का का करता है ई-वे बिल दिखा कर उनका सामान एक राज्य से दूसरे राज्य में लाने ले जाने में आसानी होती है| 6 महीने तक अगर GST रिटर्न नहीं भरा गया तो आपका GST रजिस्ट्रेशन कैंसल भी हो सकता है|सीबीआईसी कि चेतावनी के बाद अब जीएसटी रिटर्न भरने में की गयी लापरवाही व्यापार के लिये मुसीबत बन जायेगी|अतः समय से जीएसटी रिटर्न भरना सर्वाधिक बेहतर विकल्प होगा|