Arthgyani
होम > टैक्स (कर) > जीएसटी (GST) > GST संग्रह में वृद्धि मोदी सरकार को राहत

GST संग्रह में वृद्धि मोदी सरकार को राहत

दिसंबर महीने में जीएसटी कलेक्शन 1 लाख 3 हजार 184 करोड़ रुपये

2019 में जीएसटी संग्रह की गिरावट से जूझ रही अर्थव्यवस्था लिए 2020 के पहले दिन में आयी है राहत की खबर|विगत वर्ष GST संग्रह उम्मीदों के अनुसार न होना सरकार की चिंता का बड़ा सबब बन चुका था|इस दौरान एक ओर जहां राजकोषीय घाटा बढ़ रहा था तो वहीं दूसरी ओर केंद्र सरकार द्वारा विभिन्न राज्य सरकारों को मुआवजा देना मुश्किल हो रहा था|ऐसे में जीएसटी संग्रह का एक लाख करोड़ के पार पहुंचना मोदी सरकार के लिए बड़ी खबर है|

जीएसटी संग्रह 1 लाख करोड़ के पार:

आर्थिक सुस्ती से बेहाल भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए GST संग्रह में वृद्धि है राहत की खबर|बता दें जीएसटी कलेक्शन लगातार दूसरे महीने 1 लाख करोड़ के पार पहुंचा है|2019 के दिसंबर महीने में जीएसटी कलेक्शन 1 लाख 3 हजार 184 करोड़ रुपये रहा|जबकि नवंबर में जीएसटी कलेक्शन कुल 1,03,492 करोड़ रुपये रहा था|लगातार दुसरे महीने में जीएसटी संग्रह का एक लाख करोड़ के पार पहुंचना सरकार के लिए राहत की बड़ी खबर है|गौरतलब है वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस दिशा में विभिन्न प्रयास किये थे|जीएसटी काउंसिल की विभिन्न बैठकों में राज्य सरकारों से रायशुमारी भी की गयी थी|

इन महीनों में हुई थी गिरावट:

विदित हो कि अक्टूबर महीने में जीएसटी कलेक्शन 95,380 करोड़ रुपये और सितंबर में 91,916 करोड़ रुपये था| संग्रह में गिरावट से सरकार की चिंताएं बढ़ी थी| इस गिरावट को अगर प्रतिशत में देखें तो सितंबर में जीएसटी कलेक्शन में 2.7 फीसदी गिरावट आई थी, वहीं 5.3 फीसदी अक्टूबर में गिरावट आई थी| इस दौरान आईजीएसटी इंपोर्ट में  10 फीसदी नकारात्मक वृद्धि देखी गई जिसमे नवंबर तक आते-आते सुधार दिखाई दिया|जबकि अक्टूबर में 20 फीसदी की गिरावट देखी गई थी|

ये हैं बढ़ोत्तरी के आंकड़े:

वित्त वर्ष 2018 से तुलना करें तो जीएसटी कलेक्शन में कुल 16 फीसदी बढ़ोतरी हुई है| यह वृद्धि सालाना हिसाब से हुई है| ये आंकड़े प्रदेशवार देखें तो अरुणाचल प्रदेश के जीएसटी कलेक्शन में 124 फीसदी उछाल है|विदित हो कि दिसंबर 2018 में यह आंकड़ा जहां 26 करोड़ का था, वहीं दिसंबर 2019 में कुल 58 करोड़ के पास पहुंच गया|नागालैंड में 88 फीसदी जीएसटी कलेक्शन हुआ है| नागालैंड में दिसंबर 2018 में 17 करोड़ जीएसटी कलेक्शन दिसंबर 2019 तक बढ़कर 31 करोड़ के पास पहुंच गया जबकि  जम्मू और कश्मीर में करीब 40 फीसदी जीएसटी कलेक्शन हुआ है|

केंद्र एवं राज्य स्तर पर संग्रह:

विदित हो कि केंद्रीय स्तर पर नवंबर में कुल जीएसटी संग्रह 19,592 करोड़ रहा जबकि राज्य स्तर पर 27,144 करोड़ रूपये का कुल जीएसटी संग्रह हुआ| इस दौरान 49,028 करोड़ एंटीग्रेटेड जीएसटी रहा जिसमें 20,948 करोड़ इंपोर्ट का भी हिस्सा शामिल है| इसके साथ ही कुल 7,727 करोड़ का उपकर भी शामिल है|अक्टूबर से नवंबर की तुलना में जीएसटी रिटर्न 3बी फाइल में 77.83 लाख इजाफा हुआ है|काबिलेगौर है कि दिसंबर में आईडीएसटी इंपोर्ट्स के हिसाब से कुल रेवेन्यू  में 9 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है|