Arthgyani
होम > न्यूज > ICICI बैंक ने शुरू की ‘iBOX’ सर्विस शुरू, जानें कैसे करेगी यह कार्य

ICICI बैंक ने शुरू की ‘iBOX’ सर्विस शुरू, जानें कैसे करेगी यह कार्य

ICICI बैंक ने फ़िलहाल इसे 17 शहरों की 50 शाखाओं में शुरू किया है

अगर आप ICICI बैंक के उपभोक्ता हैं तो बैंक ने एक नई और अनोखी सेवा शुरू की है| इसका नाम है ‘आईबॉक्स’ (‘iBox’)| यह देश के पहली अनूठी सेल्फ-सर्विस डिलीवरी सुविधा ‘आईबॉक्स‘ ग्राहकों को अब 24 घंटे सातों दिन बैंकिंग सर्विस उपलब्ध कराएगी|

17 शहरों की 50 शाखाओं में शुरू

ICICI बैंक ने फ़िलहाल इसे 17 शहरों की 50 शाखाओं में शुरू किया है| अगर आसान शब्दों में इस सर्विस के बारे में कहें तो अब ग्राहक अपने डेबिट, क्रेडिट कार्ड, चेक बुक और रिटर्न चेक जैसी सुविधाएं अपने घर के पड़ोस वाली ब्रांच से हासिल कर सकते हैं| वो भी बिना किसी परेशानी के 24*7 इसका इस्तेमाल किया जा सकेगा| यह सर्विस उन लोगों के बहुत काम आएगी, जो ऑफिस के चलते बैंक से आने वाले अपने पैकेज को लेने के लिए घर पर मौजूद नहीं रह पाते हैं|

यह सर्विस होगी 24*7

आईबॉक्स टर्मिनलों को बैंकों की ब्रांच  के परिसर के बाहर लगाया जाएगा, जो कि बैंक बंद होने के बाद भी मौजूद रहेंगे, ताकि उपभोक्ता इसका इस्तेमाल 24*7 कर सकें| सेफ्टी के लिहाज से यह OTO (one time password) के जरिए काम करेगा| इसे ग्राहक छुट्टी के दिन भी अपने रजिस्टर्ड फोन से एक्सेस कर सकते हैं|

इन शहरों की ब्रांच में मिलेंगे आईबॉक्स

ICICI बैंक की ओर से जारी बयान में कहा गया हैं कि फिलहाल दिल्ली-एनसीआर, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, बेंग्लुरू, हैदराबाद, पुणे, नवी मुंबई, सूरत, जयपुर, इंदौर, भोपाल, लखनऊ, नागपुर, अमृतसर, लुधियाना और पंचकूला में ये आईबॉक्स लगाए गए हैं| इसके लिए चुनिंदा ब्रांचों का चयन किया गया है| इस सुविधा का समय के अनुसार विस्तार किया जाएगा|

वीडियो के माध्यम से बताया गया है इस्तेमाल का तरीका

बैंक ने इस आईबॉक्स सर्विस के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए एक विडियो भी जारी किया है, ताकि लोग किसी भी तरह से कोई शंका न रखें| इस विडियो में घर पर मौजूद न रहने से चेक बुक, डेबिट कार्ड आदि के स्टोर रूम में पड़े हुए चीजों की व्यथा से शुरू की गई है और अंततः बताया गया है कि इस सर्विस का इस्तेमाल आप कैसे आसानी से कर सकते हैं|

इस तरह की सेवा शुरू करने वाला ICICI पहला बैंक है और अगर यह प्रयोग सफल होता है तो यह ग्राहकों के साथ-साथ बैंक के लिए भी राहत का कार्य होगा|