Arthgyani
होम > न्यूज > वित्त समाचार > ICRA ने दिया YES बैंक को झटका

ICRA ने दिया YES बैंक को झटका

ICRA ने यस बैंक कि रेटिंग में कटौती की है

बड़े वित्तीय संकट से जूझ रहे yes बैंक की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही|बीते दिनों पूंजी के संकट से जूझ रहे यस बैंक में 14000 करोड़ रुपये से ज्यादा का निवेश करने के लिए आठ निवेशक तैयार हो गए थे। यस बैंक के बोर्ड के अनुसार इनमें रेखा झुनझुनवाला समेत कनाडा के उद्योगपति अर्विन सिंह ब्रेच, आदित्य बिड़ला जैसे दिग्गज निवेश को तैयार थे| इस खबर का असर बैंक के शेयरों पर भी  नजर आया|10 दिसंबर की डेडलाइन तक धन संग्रह न होने के कारण रेटिंग एजेंसी आईसीआरए (ICRA) ने यस बैंक कि रेटिंग में कटौती की है|

पूंजी जुटाने की ‘तत्काल’ जरूरत है:

आईसीआरए ने कहा कि पूंजी जुटाने में देरी और एनपीए में बढ़ोतरी की संभावना के साथ पूंजी और सॉल्वेंसी प्रोफाइल के आगे कमजोर होने की उम्मीद है। इसलिए पूंजी जुटाने की ‘तत्काल’ जरूरत है। रेटिंग एजेंसी आईसीआरए ने गुरुवार को यस बैंक के 52,911.70 करोड़ रुपये के बांड प्रोग्राम को डाउनग्रेड कर दिया। इसके पीछे एजेंसी ने बैंक द्वारा जुटाई गई पूंजी के समय और मात्रा के बारे में जारी अनिश्चितता का हवाला दिया है।

क्या कहती है रिपोर्ट:

आईसीआरए ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि, “बैंक की सॉल्वेंसी प्रोफाइल कुल एनपीए/सीईटी के 36 फीसदी 30 सितंबर, 2019 (30 जून, 2019 तक 27 फीसदी) को होने के साथ कमजोर बनी हुई है।”यस बैंक ने इस महीने की शुरुआत में 1.2 अरब डॉलर के बाध्यकारी प्रस्ताव पर विचार करने का निर्णय स्थगित कर दिया था। इसे निवेशक इर्विन सिंह ब्रिच ने प्रस्तुत किया था। आईसीआरए ने उजागर किया कि अगर बैंक उक्त प्रस्ताव को स्वीकार करता है तो इसे अपने संकटग्रस्त लोन के शेयर को घटाने की जरूरत होगी।