Arthgyani
होम > न्यूज > LIC की जनरल बीमा ग्रोथ 14 प्रतिशत रही

LIC की जनरल बीमा ग्रोथ 14 प्रतिशत रही

भारत की 1.3 अरब की आबादी के लिए देश में सिर्फ 460 एक्च्युरीज हैं।

भारतीय बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण (इरडा) को अब तक भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) की ओर से आईपीओ का प्रस्ताव नहीं मिला है। इरडा के चेयरमैन एससी खुंटिया ने यह जानकारी दी है।

खुंटिया का मानना है कि किसी बीमा कंपनी को काम शुरू करने के 10 वर्ष के अंदर सूचीबद्धता की स्थिति में आ जाना चाहिए। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि उत्पादों की सालाना गंभीरतापूर्वक समीक्षा की जानी चाहिए। घाटा उठाने वाले उत्पादों को खत्म कर देना चाहिए।

सामान्य बीमा की कमजोर ग्रोथ से निराश

खुंटिया भारत में जीवन और सामान्य बीमा की कमजोर ग्रोथ से निराश हैं। बीते साल जनरल बीमा की ग्रोथ 14 फीसदी रही, जबकि इसकी ग्रोथ की क्षमता 17-18 फीसदी की है। वहीं, जीवन बीमा की ग्रोथ महज 10 फीसदी रही, जबकि इसकी ग्रोथ की क्षमता 12-13 फीसदी है।

उन्होंने कहा कि भारत की 1.3 अरब की आबादी के लिए देश में सिर्फ 460 एक्च्युरीज हैं, जबकि अमेरिका की जनसंख्या भारत की एक तिहाई से भी कम है मगर वहां इनकी संख्या 37,000 के पार है। उन्होंने जोर दिया की एलआईसी ने माइक्रोफाइनेंस की दिशा में काफी काम किया है।

एक झलक:

  • भारतीय बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण (इरडा) को अब तक भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) की ओर से आईपीओ का प्रस्ताव नहीं मिला है।
  • इरडा के चेयरमैन एससी खुंटिया ने यह जानकारी दी है।
  • खुंटिया भारत में जीवन और सामान्य बीमा की कमजोर ग्रोथ से निराश हैं।
  • बीते साल जनरल बीमा की ग्रोथ 14 फीसदी रही।
  • जबकि इसकी ग्रोथ की क्षमता 17-18 फीसदी की है।
  • जीवन बीमा की ग्रोथ महज 10 फीसदी रही।
  • जबकि इसकी ग्रोथ की क्षमता 12-13 फीसदी है।
  • उन्होंने कहा कि भारत की 1.3 अरब की आबादी के लिए देश में सिर्फ 460 एक्च्युरीज हैं।
  • जबकि अमेरिका की जनसंख्या भारत की एक तिहाई से भी कम है मगर वहां इनकी संख्या 37,000 के पार है।