Arthgyani
होम > न्यूज > NEFT करना हुआ अब और आसान, 24*7 करें बिना किसी चार्ज

NEFT करना हुआ अब और आसान, 24*7 करें बिना किसी चार्ज

NEFT के संदर्भ में RBI ने किया नियमों में परिवर्तन

रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया (RBI) ने National Electronic Funds Transfer (NEFT) के सन्दर्भ में आज से नियमों में परिवर्तन कर दिया है| आज से NEFT करने के लिए कोई भी तय समय सीमा नहीं होगी| अब आप किसी भी वक्त, कहीं से भी अपने बैंक अकाउंट से किसी दुसरे बैंक में पैसे ट्रान्सफर कर सकते हैं| RBI ने इस सुविधा में और भी सोने पे सुहागा वाला कार्य तब किया जब इसे किसी भी तरह के फीस या चार्ज से मुक्त कर दिया| बैंकिंग ऑवर में तो आप बैंक जाकर यह कार्य संपन्न कर सकते है| बैंकिंग ऑवर के बाद आप यह कार्य इन्टरनेट के माध्यम से ऑनलाइन भी कर सकेंगे|

क्या है NEFT

इंटरनेट के जरिए दो लाख रुपए तक के लेन-देन के लिए NEFT का इस्तेमाल किया जाता है| इसके जरिये किसी भी शाखा के किसी भी बैंक खाते से किसी भी शाखा के बैंक खाते को पैसा भेजा जा सकता है| बस इकलौती शर्त ये है कि भेजने वाले और पैसा पाने वाले, दोनों के पास इंटरनेट बैंकिंग सेवा होना जरूरी है| अगर दोनों खाते एक ही बैंक के हैं तो सामान्य स्थिति में कुछ सेकेंड्स के अंदर पैसा ट्रांसफर हो सकता है|

दो घंटे के अंदर खाते में पहुंच जाएगा पैसा

NEFT हमेशा की तरह 2 घंटे के अंदर अकाउंट में पहुंच जाएगा| अगर किसी वजह से पैसा रिटर्न होना होगा तो वह हाथोहाथ वापस आ जाएगा| आरबीआई ने इसके लिए बैंकों को विशेष निर्देश दिए हैं| आधे घंटे के 4 बैच हमेशा रहेगा उस हिसाब से काम करना होगा| पहला बैच 15 दिसंबर की रात यानी 16 दिसंबर मध्य रात्रि 12:30 AM पर शुरू हो रहा है| अगली रात 12:00 बजे तक खत्म होगा|

छुट्टी के दिन भी काम करेगा

NEFT छुट्टी के दिन भी काम करेगा चाहे किसी भी तरह की छुट्टी हो| काम के नॉर्मल घंटों के बाद में NEFT स्ट्रेट थ्रू प्रोसेसिंग मोड पर काम करने लगेगा, अर्थात अब आपको यह मैसेज नहीं आएगा की आपका NEFT ट्रान्सफर बैंकिंग ऑवर शुरू होने पर होगा| अब चाहे संडे हो या कोई और दिन घर बैठे कर सकेंगे मनी ट्रान्सफर|

NEFT के लिए अब कोई भुगतान नहीं

पूर्व में बैंक NEFT के लिए चार्ज वसूलते थे| लेकिन RBI ने इसी साल अगस्त महीने की अपनी क्रेडिट पॉलिसी में संसोधन करते हुए NEFT पर लगने वाले चार्ज को खत्म कर दिया था| एनईएफटी पर हर एक लेनदेन पर 2.50 रुपए से लेकर 25 रुपए का चार्ज वसूला जाता था| RBI के निर्देश बाद SBI वह सबसे पहला बैंक था जिसने NEFT पर लगने वाले चार्ज को खत्म किया था|

कुछ माह पहले इसे 2 से घटाकर एक कर दिया गया था

विदित हो कि आरबीआई ने कुछ माह पूर्व NEFT को सीमित करने का प्रयास किया था| पर जल्द ही उन्हें यह ज्ञात हो गया कि अब इस सुविधा का विस्तार करने का समय है, न की सीमित करने का| तदुपरांत RBI ने NEFT के संदर्भ में कुछ नीतिगत परिवर्तन किए और बैंकों को निर्देश दिया की वे जल्द से जल्द NEFT को बिना किसी शुल्क करें और अब इस सुविधा को  24*7 करना क्रांतिकारी कदम है|

विदित हो कि बीते शुक्रवार को ही भारतीय रिजर्व बैंक ने एक खास सर्कुलर जारी कर दिया था| RBI के इस फैसले के बाद अब बैंक मार्जिनल स्टैंडिंग फैसिलीटी (MSF) के इमरजेंसी विंडो के तहत अतिरिक्त लिक्विडिटी मांग सकते हैं| रिजर्व बैंक ने अब NEFT के जरिए 24X7 समय में फंड ट्रांसफर की सुविधा लागू किया है| इसके बाद बैंकों ने सेटलमेंट को लेकर चिंता जाहिर किया था| मगर RBI के बताए हल से अब वे संतुष्ट हैं|

विदित हो की दिन प्रतिदिन आते नए-नए डिजिटल पेमेंट ऐप ने बैंकों के इस चलायमान प्रक्रिया को बहुत चुनौती दे रहें थे| इस दृष्टिकोण से RBI द्वारा NEFT सिस्टम में सुधार बैंकों के भी हित में हैं|