Arthgyani
होम > न्यूज > डिजिटल इंडिया

NEFT से डिजिटल ट्रांजैक्शन करना होगा आसान

नैशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर सर्विस 16 दिसंबर से 24 घंटे चालू रखने का एलान

भारत सरकार डिजिटल इंडिया को काफी बढ़ावा दे रही है, हालही में रिजर्व बैंक ने भी डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा दिया है। डिजिटल ट्रांजैक्शन सर्विस नैशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) को 16 दिसंबर से 24 घंटे सर्विस चालू रखने का एलान किया है। अर्थात् NEFT सर्विस की सुविधाओं का लाभ सप्ताह के सातों दिन किसी भी समय पैसों को ट्रान्सफर करना आसान हो जायेगा, जिसमें अवकाश के दिन भी यह सुविधा चालू रहेगी। इस तरह रिजर्व बैंक ने बताया कि NEFT ट्रांजैक्शन को चौबीसों घंटे, सातों दिन शुरू करने का निर्णय लिया गया है।

RBI: हर समय पर्याप्त राशि रखने की हितायत 

एजेंसी की खबर के मुताबिक, नैशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर का समय सामान्य दिनों में सुबह 8बजे से शाम 7बजे के दौरान रहेगा तथा पहले और तीसरे शनिवार को सुबह 8बजे से दोपहर 1बजे तक घंटे के आधार पर किया जा सकेगा। सभी सदस्य बैंकों को नियामक के पास चालू खाते में हर समय पर्याप्त राशि रखने की हितायत दी गयी है, जिससे कि NEFT ट्रांजैक्शन में कोई समस्या ना हो।

केंद्रीय बैंक ने सभी बैंकों को सुचारू तरीके से एनईएफटी ट्रांजैक्शन सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक बुनियादी संरचनाएं दुरुस्त रखने का भी निर्देश दिया गया है। सभी बैंक एनईएफटी में किए गए बदलाव के बारे में उपभोक्ताओं को सूचित कर सकते हैं।

 नैशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) क्या है?

National Electronic Funds Transfer / नैशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर/ (NEFT) यह ऑनलाइन ट्रान्सफर सर्विस है जिसके तहत किसी भी बैंक के माध्यम से किसी दूसरे बैंक के खाता धारक को मनी ट्रांसफर किया जाता है। रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा नवंबर 2005 में इस ऑनलाइन ट्रांसफर की सुविधा को शुरू किया गया था। डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देने में आज के दिनों में राष्ट्रीय स्तर पर यह सुविधा सभी बैंकों में उपलब्ध है।

इस तरह RBI ने बैंक के एक खाते से किसी दूसरे खाते से पैसों को electronic transfer के लिए दो विकल्प उपलब्ध कराये हैं। NEFT और RTGS ये दो विकल्प हैं। NEFT (नैशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर) और RTGS (रियल टाइम ग्रॉस सेटेलमेंट / Real-Time Gross Settlement), इन दोनों ही इलेक्ट्रॉनिक ट्रांसफर विकल्पों का उपयोग कर इंटरनेट बैंकिंग फैसिलिटी के जरिये फण्ड ट्रांसफर करना आसान है।