Arthgyani
होम > योजना > प्रधानमंत्री जन औषधि योजना – केंद्र, डाक्यूमेंट्स

प्रधानमंत्री जन औषधि योजना – केंद्र, डाक्यूमेंट्स

सरकार औषधि केंद्र खोलने वाले को 2.5 लाख रूपये से मदद भी करेगी।

केंद्र सरकार ने गरीब लोगों को सस्ते दामों पर दवाई उपलब्ध हो सकें इसके लिए प्रधानमंत्री जन औषधि योजना (Pradhan Mantri Jan Aushadhi Yojana) चलाई है। सस्ती दवाई उपलब्ध कराने के साथ-साथ लोगों के लिए अच्छे रोजगार का भी अवसर है। प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के तहत बहुत से औषधि केंद्र खोलने का प्रावधान है।

जो भी औषधि केंद्र खोलना चाहता है सरकार अपनी तरफ से औषधि केंद्र खोलने वाले को 2.5 लाख रूपये से मदद भी करेगी। इस योजना के तहत पहले ऐसा था जन औषधि केंद्र वो ही लोग खोल सकते हैं। जिनके पास बी-फार्मा और एम-फार्मा की डिग्री होगी। लेकिन केंद्रीय रासयन और उर्वरक मंत्री हंसराज अहीर ने बताया की अब इस योजना के तहत बहुत से बदलाव किये गए हैं। अब जन औषधि केंद्र कोई भी खोल सकता है। जन औषधि केंद्र पर दवा 20 प्रतिशत की छूट पर मिलेगी।

PMJAY के तहत कोई भी खोल सकता है जन औषधि केंद्र 

प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के तहत कोई भी जन औषधि केंद्र खोल सकता है। कोई संस्थाखोलना चाहती हो या कोई डॉक्टर हो, कोई फार्मासिस्ट हो,कोई कारोबारी हो इस योजना का लाभ कोई भी उठा सकता है। इस योजना की ख़ास बात ये है।

इस योजना के तहत अगर कोई दिव्यांग जन औषधि केंद्र खोलना चाहता है। सरकार उस केंद्र में 50,000 रूपये तक की दवाई पहले देती है मदद के रूप में, इस योजना के तहत सस्ती दवाईयों  की दुकान खोली जाती है। जो गरीब लोगों को दवाई खरीदने में इलाज़ करवाने में आसानी होगी।

जन औषधि केंद्र खोलने के लिए ज्यादा डाक्यूमेंट्स की आवशकयता नहीं 

प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के तहत आप को आवेदन के लिए ज्यादा डाक्यूमेंट्स की भी आवशकयता नहीं है। अगर कोई व्यक्तिगत तौर पर जन औषधि केंद्र खोलना चाहता है तो उसको सिर्फ आधार कार्ड और पैन कार्ड की आवशकयता है।
लेकिन इस से अलग कोई संस्था या कोई डॉक्टर, फार्मासिस्ट, मेडिकल प्रक्टिस्नर जन औषधि केंद्र खोलना चाहता है तो डॉक्यूमेंट में उनके पैन कार्ड, आधार कार्ड, संस्था का सर्टिफिकेट उनका रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट आवशक होगा। ख़ास बात जन औषधि केंद्र खोलने के लिए कम से कम 120 वर्गफीट की जगह होनी चाहिए।