Arthgyani
होम > योजना > प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्‍साहन योजना – शर्तें, उद्देश्य, विशेषताएं

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्‍साहन योजना – शर्तें, उद्देश्य, विशेषताएं

PM नरेंद्र मोदी ने 9 अगस्त 2016 प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्‍साहन योजना की शुरुआत की थी

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्‍साहन योजना (Pradhan Mantri Rojgar Protsahan Yojana): अगर आपकी नौकरी छुट गई है या आप नौकरी छोड़ कर स्वयं का कारोबार प्रारंभ करना चाहते हैं तो सरकार आपको नया व्यापार प्रारंभ करने में आपकी मदद करेगी|

ऐसे समय में जब भारत में बेरोजगारी की बढती दर बहुत ही चिंता का विषय बना हुआ है| नौकरी उपलब्धता भी धीरे-धीरे एक सीमा में बंधती जा रही है, ऐसे समय में सरकार की एक योजना आपके काम आ सकती है| बस आप थोड़ी सी हिम्मत और हुनर दिखाएं| सरकार आपके अपना कारोबार स्टार्ट करने में पूरा सहयोग देगी|

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना (PMRPY) क्या है?

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना भारत सरकार द्वारा प्रारंभ की गई एक स्वरोजगार प्रोत्साहन योजना है, जिसके तहत ऐसे युवा जिनकी आयु 18 से 35 साल के बीच है और या तो उनकी नौकड़ी जा चुकी है या वे अपना कारोबार प्रारंभ करने के इच्छुक हैं उन्हें इस योजना के तहत स्वरोजगार के लिए प्रेरित करना|

जैसा की नाम में नीहित शब्द ‘प्रोत्साहन’ से ही ज्ञात होता है इसमें रोजगार प्रारंभ करने पर सरकार द्वारा हर संभव प्रोत्साहन दिया जाता है, जिससे नए उद्यमीयों को व्यापार के प्रारंभ में ही बोझ न पड़े| इसके तहत आवेदक की तरफ से उसके स्टाफ को दिया जाने वाला (नियोक्ता का योगदान) EPFO और EPS का भुगतान सरकार द्वारा की जाएगी| वो भी पूरे तीन सालों तक| ज्ञात हो की 1 अप्रैल 2018 से पूर्व सरकार द्वारा सिर्फ EPS का योगदान दिया जाता था|

PMRPY की शुरुआत 

बेरोजगारी की बढती समस्याओं को देखते हुए और स्वरोजगार के लिए युवाओं को प्रेरित करने के उद्द्देश्य से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 9 अगस्त 2016 प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्‍साहन योजना (PMRPY) की शुरुआत की थी|

PMRPY वेबसाइट

इस योजना की PMRPY फिसियल वेबसाइट है| यहां पर आप इस योजना से संबंधित और भी जानकारियां तो प्राप्त कर ही सकते हैं, साथ ही बहुत आसानी से यहां पर इस योजना के लिए आप ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं|

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्‍साहन योजना (PMRPY) ऑनलाइन 

इस योजना की सबसे अच्छी खूबी यह है कि इसके अंतर्गत लाभ लेने के लिए आपो किसी भी कार्यलय में जाने की आवश्यकता नहीं है, आप इस योजना के तहत पूरा लाभ ऑनलाइन अप्लिकेशन के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं| जैसे-जैसे आप अपने उद्योग का विस्तार करते जाएं, वैसे-वैसे आप इस के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर अपडेट करते जाएं|

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना (PMRPY) की शर्तें:

  1. आवेदक की आयु 18-35 के बीच होनी चाहिए| उत्तर-पूर्वी राज्यों के नागरिकों के लिए उम्र-सीमा 18 से 40 वर्ष की है|
  2. इस योजना का लाभ लेने के लिए इसके ऑफिसियल वेबसाइट पर खुद को रजिस्टर्ड करना अनिवार्य है|
  3. आवेदक की कमी 15,000 रूपए/मासिक से ज्यादा नहीं होनी चाहिए|
  4. आवेदक 240 दिन/वर्ष का रोजगार प्राप्त करता हो|
  5. इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को सबसे पहले खुद को रजिस्टर्ड करना होगा|
  6. हालांकि SC/ST, महिलाओं, पूर्व सैनिकों और शारीरिक रूप से विकलांगों आवेदकों के लिए थोड़ी ज्यादा छुट प्राप्त है|
  7. आवेदक को उस क्षेत्र में 3 साल से ज्यादा का निवास प्रमाण होना चाहिए|
  8. आवेदक को कम से कम 8वीं पास होना अनिवार्य है|
  9. बैंक डिफॉल्‍टर को इस योजना का लाभ नहीं मिल सकता है|

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्‍साहन योजना (PMRPY) PDF 

इस योजना से संबंधित सम्पूर्ण जानकारी के लिए हम इस योजना से जुड़े सभी तरह के जानकारियों की PDF कॉपी उपलब्ध करा रहें हैं, जिसके माध्यम से आप इस योजना में होने वाले सभी परिवर्तनों से खुद को अपडेट रख सकतें हैं और नए व्यापार प्रारंभ करने में सहयोग ले सकते हैं|

Pradhan Mantri Rojgar Protsahan Yojana की उद्देश्य और विशेषताएं:

  1. इस योजना के तहत 15% तक सब्सिडी मिलती है जो 12,500 रूपए/व्यक्ति तक है| मुश्किल क्षेत्रों के लिए सब्सिडी की सीमा थोड़ी ज्यादा है|
  2. इस योजना का दोहरा उद्द्देश्य है, जिसमें एक तरफ नियोक्ता, स्टाफ की EPS और EPF की चिंता किए बिना अपनी आवश्यकतानुसार जितनी आवश्यकता हो उतने स्टाफ को हायर कर सकता है| इससे फायदा यह होगा कि रोजगार में वृद्धि होगी|
  3. इस योजना का लाभ लेने के लिए अपने व्यवसाय को श्रम सुविधा पोर्टल से LIN ( Labour Identification Number) लेना अनिवार्य है|
  4. इस योजना का लाभ वही अप्लिकेंट ले सकते हैं जिनका पूर्व में EPFO पर UAN लिंक्ड अकाउंट हो| इस योजना में अप्लाई करने के लिए यह अनिवार्य शर्त है|
  5. ऐसे संस्थानों में कार्य करने से कर्मचारी भी नहीं हिचकेंगे, क्योंकि शुरू से ही संस्थान में पर्याप्त सामजिक और आर्थिक संरक्षण प्राप्त होगा|
  6. NGO भी इस योजना के तहत सब्सिडी का लाभ उठा सकते हैं, जोकि ऊपर बताई गई सीमा के अनुसार ही होगी|
  7. सरकारी से मान्यता प्राप्त संस्थान में प्रशिक्षित आवेदकों को इस योजना में प्राथमिकता दी जाएगी|
  8. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्‍साहन योजना (pmrpy) का लक्ष्य बेरोजगारी को कमकरना और सभी बेरोजगारों को रोजगार प्रदान करना है|
  9. इस योजना के तहत देश के युवाओं को आत्मनिर्भर बना कर, देश को नई दिशा देना भी एक प्रमुख उद्देश्य है|
  10. नया व्यवसाय शुरू करने के दौरान PF और EPS के बोझ से बचाना भी इस योजना का लक्ष्य है|
  11. संयुक्त व्यापार प्रारंभ करने पर इस योजना के तहत ज्यादा प्रोत्साहन प्रदान किया जाता है|
  12. इस योजना के तहत आवेदकों को प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाता है, जोकि क्षेत्र के अनुसार अलग-अलग अवधि का होता है|