Arthgyani
होम > न्यूज > कोरोना वायरस के चलते पर्यटन उद्योग को हजारों करोड़ का नुकसान

कोरोना वायरस के चलते पर्यटन उद्योग को हजारों करोड़ का नुकसान

पर्यटन स्थानों के लिए 80 प्रतिशत बुकिंग कैंसिल हो चुकी हैं।

कोरोना ने पूरी दुनिया में हाहाकार मचा रखा है। कोरोना का असर दुनिया के कारोबारों पर पड़ा है। बहुत से कारोबार ठप होने की कगार पर हैं। कोरोना वायरस के कारण बहुत सी कंपनियों ने वर्क फॉर होम दे दिया है। कोरोना का असर सभी क्षेत्रों पर पड़ा है। कोरोना ने पूरी दुनिया हो हिला दिया है। हजारों की संख्या में कोरोना के कारण मौत हो चुकी हैं।

कोरोना वायरस के महामारी के कारण पर्यटन उद्योग को हजारों करोड़ का नुकसान हो रहा है। घेरलू और विदेशी यात्रा ठप हो रही हैं। कोरोना वायरस के कारण विदेशों में जाने वाले लोग प्रभावित हुए हैं। सराकर वीजे कैंसिल कर रही है। भारतीय उद्योग परिसंघ ने इसे सबसे बुरे संकट का दौर बताया है। फिलहाल का वक़्त भारतीय पर्यटन उद्योग के लिए अभी तक का सबसे बुरा दौर है

कोरोना वायरस का असर घेरलू और विदेशी पर्यटन पर बहुत ज्यादा पड़ा है। पर्यटन उद्योग से जुड़े होटेल, ट्रेवल एजेंट, पर्यटन सेवा कंपनियां, रेस्तरां, पारिवारिक मनोरंजन पार्क, विरासत स्थल, क्रूज़, कॉर्पोरेट पर्यटन और साहसिक पर्यटन इत्यादि उद्योग भी प्रभावित हुए है।

कोरोना के कारण 80 प्रतिशत बुकिंग हुई कैंसिल

कोरोना वायरस महामारी के पर्यटन उद्योग पर असर का आकलन किया है। कोरोना वायरस के कारण विदेशी पर्यटकों में काफी कमी आई है। जो की भारत की पर्यटन उद्योग पर काफी असर पड़ा है। पर्यटकों की संख्या 60 से 65 प्रतिशत तक होती है। जो हर साल विदेशों से भारत घुमने आते हैं। जो की अब की बार न के बराबर हो गई है। विदेशी पर्यटकों से 28 अरब डॉलर की आय होती है हर साल, लेकिन अब की बार कोरोना वायरस के कारण सभी बाजार सुस्त पड़े हैं।

कोरोना वायरस की खबर नवम्बर में आना शुरू हुई थी। उसके बाद तो कोरोना वायरस ने ऐसे पैर जमाये के पूरी दुनिया को हिला दिया। कोरोना वायरस के कारण यात्रियों ने टिकटें कैंसिल करवाना शुरू कर दी थी। होटल्स की बुकिंग कैंसिल होना शुरू हो गई थी। भारत के पर्यटन स्थानों के लिए 80 प्रतिशत बुकिंग कैंसिल हो चुकी हैं। ये संख्या अभी तक का सबसे उच्चतम स्तर है।