Arthgyani
होम > न्यूज > 1 लाख करोड़ की लागत से बनेगी सुरंग: नितिन गडकरी

1 लाख करोड़ की लागत से बनेगी सुरंग: नितिन गडकरी

पांच साल में बनेगी सुरंग: गडकरी

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा देश के यातायात को सक्षम करने के लिए किसी भी मौसम में काम को बिना किसी रूकावट और बिना किसी मुसीबत से करने के लिए सुरंग बनाने की आवशयकता है। देश को रणनीतिक लिहाज से अहम गंतव्यों पर एक मजबूत सुरंग प्रणाली की जरूरत है।

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री ने कहा कि अगले पांच साल में सुरंगों के निर्माण का एक लाख करोड़ रुपये का काम किया जाएगा। गडकरी ने कहा कि इसके साथ ही छोटे और बड़े सभी सक्षम खिलाड़ियों को अवसर देने की जरूरत है। इसके लिए तकनीकी और वित्तीय बोली के मानदंडों को उदार करने की जरूरत है।

1 लाख करोड़ का आएगा खर्च सुरंगों पर

गडकरी ने एसोचैम और राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अवसंरचना निगम लि. द्वारा भूमिगत निर्माण और सुरंग पर एक कार्यशाला में वरिष्ठ अधिकारियों, अंशधारकों और उद्योग के लोगों के साथ बैठक के बाद कहा, हमे सुरंग बनाने की जरूरत है, यातायात को देखते हुए, मौसम के परिवर्तन को देखते हुए सरकार ने ये फैसला लिया है।

अगले बांच साल में 1 लाख करोड़ की लागात से सुरंगों का निर्माण किया जाएगा ताकि यातायात बाधित न हो, लोग जल्द से जल्द अपने गंतव्य तक पहुँच सके।  देश में रणनीतिक गंतव्यों पर सुरंग बनाने की जरूरत है, जिससे सभी मौसम परिस्थितियों में संपर्क सुविधा उपलब्ध कराई जा सके। हम अगले पांच साल में सुरंग निर्माण पर एक लाख करोड़ रुपये खर्च करेंगे।

एक झलक:

  • देश को रणनीतिक लिहाज से अहम गंतव्यों पर एक मजबूत सुरंग प्रणाली की जरूरत है।
  • सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री ने कहा कि अगले पांच साल में सुरंगों के निर्माण का एक लाख करोड़ रुपये का काम किया जाएगा।
  • गडकरी ने कहा कि इसके साथ ही छोटे और बड़े सभी सक्षम खिलाड़ियों को अवसर देने की जरूरत है।
  • इसके लिए तकनीकी और वित्तीय बोली के मानदंडों को उदार करने की जरूरत है।
  • अगले बांच साल में 1 लाख करोड़ की लागात से सुरंगों का निर्माण किया जाएगा ताकि यातायात बाधित न हो, लोग जल्द से जल्द अपने गंतव्य तक पहुँच सके।
  • देश में रणनीतिक गंतव्यों पर सुरंग बनाने की जरूरत है, जिससे सभी मौसम परिस्थितियों में संपर्क सुविधा उपलब्ध कराई जा सके।
  • गडकरी ने एसोचैम और राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अवसंरचना निगम लि. द्वारा भूमिगत निर्माण और सुरंग पर एक कार्यशाला में वरिष्ठ अधिकारियों, अंशधारकों और उद्योग के लोगों के साथ बैठक के बाद कहा।
  • सुरंग बनाने की जरूरत है, यातायात को देखते हुए, मौसम के परिवर्तन को देखते हुए सरकार ने ये फैसला लिया है।