Arthgyani
होम > न्यूज > “स्टैंड अप इंडिया” योजना के तहत महिलाओं को मिला करोड़ों का लोन

“स्टैंड अप इंडिया” योजना के तहत महिलाओं को मिला करोड़ों का लोन

महिलायें इस योजना के बाद आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर हुई है।

भारत सरकार ने महिलाओं के लिए स्टैंड अप इंडिया योजना चलाई है। इस योजना के तहत महिलाओं को सशक्त बनाना है। महिलाएं स्टैंड अप इंडिया योजना के तहत अब तक 16,712 करोड़ रूपये का लोन ले चुकी है। महिलाओं में काम करने ही होड़ बढ़ी हैं। महिलाएं आत्म निर्भर होने लगी हैं। वित्त मंत्रालय ने बहुत योजनाये शुरू की है। उन योजनाओं में महिला सशक्तिरण का विशेष स्थान दिया है।

महिलायें इस योजना के बाद आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर हुई है। महिलाओं की सोच को दिशा मिली है। स्टैंड अप इंडिया योजना के बाद महिलाओं में बिज़नेस करने की भी हिम्मत आई है। महिलाओं का जीने का तरीका बदला है। इस योजना से महिलाओं की सोच को बल मिला है। स्टैंड अप इंडिया योजना की शुरुआत 5 अप्रैल 2016 को हुई थी।

महिलाओं के लिए 10 लाख से 1 करोड़ तक के लोन का प्रावधान 

स्टैंड अप इंडिया योजना के तहत वित्त मंत्रालय ने घोषणा की है कि अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक के प्रत्येक शाखा में अनुसूचित जाती या जनजाती के व्यक्ति और ख़ास कर महिलाओं को 10 लाख से 1 करोड़ तक के लोन देने का प्रावधान दिया है।

वित्त मंत्रालय ने बताया की स्टैंड अप इंडिया योजना के तहत 17 फरवरी 2020 तक 81 प्रतिशत महिलाओं ने खाते खुलवा लिए थे। स्टैंड उप इंडिया योजना के तहत अभी तक 73,155 खाते खुल चुके हैं। सरकार ने इस योजना के तहत महिलाओं के लिए 16,712,.72 करोड़ रूपये का लोन मंजूर किया है। अभी तक 9,106.13 करोड़ का लोन दिया जा चुका है।